महाराजा अग्रसेन जी की आरती | Agrasen Aarti Lyrics in Hindi | Agrasen Aarti Hindi PDF

आप सभी पाठको के लिए पेश है महाराजा अग्रसेन जी की आरती हिंदी में (Agrasen Aarti in Hindi)। 

Agrasen Aarti in Hindi With PDF

आप अग्रसेन महाराज जी की आरती को ऑनलाइन पढ़ भी सकते है और साथ ही अग्रसेन महाराज आरती pdf (Agrasen Aarti PDF) को अपने फ़ोन में डाउनलोड भी कर सकते है बिना इंटरनेट के पढ़ने के लिए।



Agrasen Aarti in Hindi

जय श्री अग्र हरे, स्वामी जय श्री अग्र हरे..! कोटि कोटि नत मस्तक, सादर नमन करें ..!! जय श्री!

आश्विन शुक्ल एकं, नृप वल्लभ जय! अग्र वंश संस्थापक, नागवंश ब्याहे..!! जय श्री!

केसरिया थ्वज फहरे, छात्र चवंर धारे! झांझ, नफीरी नौबत बाजत तब द्वारे ..!! जय श्री!

अग्रोहा राजधानी, इंद्र शरण आये! गोत्र अट्ठारह अनुपम, चारण गुंड गाये..!! जय श्री!

सत्य, अहिंसा पालक, न्याय, नीति, समता! ईंट, रूपए की रीति, प्रकट करे ममता..!! जय श्री!

ब्रहम्मा, विष्णु, शंकर, वर सिंहनी दीन्हा! कुल देवी महामाया, वैश्य करम कीन्हा..!! जय श्री!

अग्रसेन जी की आरती, जो कोई नर गाये! कहत त्रिलोक विनय से सुख संम्पति पाए..!! जय श्री!

Agrasen Aarti PDF

महाराजा अग्रसेन जी की आरती को बिना इंटरनेट के पढ़ने के लिए निचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करे और अग्रसेन महाराजा आरती pdf  (Agrasen Maharaj Aarti PDF) को अपने मोबाइल में डाउनलोड करे।

Click Here To Download

तो ये थी अग्रसेन महाराज जी की आरती हिंदी में अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आयी होंगी तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ ज़रूर शेयर करे।

Read

गोवर्धन महाराज की आरती | Govardhan Aarti in Hindi With PDF

गायत्री माता की आरती | Gayatri Aarti in Hindi With PDF

कृष्णा जी की आरती | Krishna Aarti in Hindi With PDF

गंगा जी की आरती | Ganga Aarti In Hindi With PDF

Post a Comment

Previous Post Next Post