गंगा जी की आरती | Ganga Aarti Lyrics In Hindi | Ganga Aarti in Hindi PDF

आप सभी पाठको के लिए पेश है गंगा जी की आरती हिंदी में (Ganga Aarti In Hindi)। 

Ganga Aarti In Hindi With PDF

आप गंगा जी की आरती को ऑनलाइन पढ़ भी सकते है और साथ ही गंगा जी की आरती pdf (Ganga Aarti PDF) को अपने फ़ोन में डाउनलोड भी कर सकते है बिना इंटरनेट के पढ़ने के लिए।



Ganga Aarti In Hindi

गंगा मां आरती ॐ जय गंगे माता, मैया जय गंगे माता ।
जो नर तुमको ध्याता, मनवांछित फल पाता ॥
ॐ जय गंगे माता, मैया जय गंगे माता ।
चंद्र सी ज्योति तुम्हारी, जल निर्मल आता ।

शरण पड़े जो तेरी , सो नर तर जाता ॥
ॐ जय गंगे माता, मैया जय गंगे माता ।
पुत्र सगर के तारे, सब जग को ज्ञाता ।
कृपा दृष्टि हो तुम्हारी, त्रिभुवन सुख दाता ॥

ॐ जय गंगे माता, मैया जय गंगे माता ।
एक बार जो प्राणी, शरण तेरी आता ।
यम की त्रास मिटाकर, परमगति पाता ॥
ॐ जय गंगे माता, मैया जय गंगे माता ।

आरति मातु तुम्हारी, जो नर नित गाता ।
सेवक वही सहज में, मुक्ति को पाता ॥
ॐ जय गंगे माता, मैया जय गंगे माता ।माता॥


Ganga Aarti PDF

गंगा जी की आरती को बिना इंटरनेट के पढ़ने के लिए निचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करे और गंगा आरती pdf को अपने मोबाइल में डाउनलोड करे।

Click here To Download

तो ये थी गंगा मैया की आरती (ganga maiya ki aarti) हिंदी में अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आयी होंगी तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ ज़रूर शेयर करे।

Read

सरस्वती माता की आरती | Saraswati Aarti in Hindi With PDF

गणेश जी की आरती | Ganesh Aarti Lyrics in Hindi With PDF

शिवजी की आरती | Shiv Aarti in Hindi With PDF

Post a Comment

Previous Post Next Post