अहोई माता की आरती | Ahoi Mata Aarti Lyrics in Hindi | Ahoi Aarti in Hindi PDF

आप सभी पाठको के लिए पेश है अहोई माता की आरती हिंदी में (Ahoi Mata Aarti in Hindi)। 

Ahoi Mata Aarti in Hindi With PDF

आप अहोई माता की आरती को ऑनलाइन पढ़ भी सकते है और साथ ही अहोई माता की आरती pdf (Ahoi Aarti PDF) को अपने फ़ोन में डाउनलोड भी कर सकते है बिना इंटरनेट के पढ़ने के लिए।




Ahoi Mata Aarti in Hindi 


तुमको निसदिन ध्यावत हर विष्णु विधाता। टेक।।

ब्राह्मणी, रुद्राणी, कमला तू ही है जगमाता।
सूर्य-चंद्रमा ध्यावत नारद ऋषि गाता।। जय।।

माता रूप निरंजन सुख-सम्पत्ति दाता।।
जो कोई तुमको ध्यावत नित मंगल पाता।। जय।।

तू ही पाताल बसंती, तू ही है शुभदाता।
कर्म-प्रभाव प्रकाशक जगनिधि से त्राता।। जय।।

जिस घर थारो वासा वाहि में गुण आता।।
कर न सके सोई कर ले मन नहीं धड़काता।। जय।।

तुम बिन सुख न होवे न कोई पुत्र पाता।
खान-पान का वैभव तुम बिन नहीं आता।। जय।।

शुभ गुण सुंदर युक्ता क्षीर निधि जाता।
रतन चतुर्दश तोकू कोई नहीं पाता।। जय।।

श्री अहोई मां की आरती जो कोई गाता।
उर उमंग अति उपजे पाप उतर जाता।।




Ahoi Aarti PDF

अहोई माता की आरती  को बिना इंटरनेट के पढ़ने के लिए निचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करे और अहोई आरती pdf को अपने मोबाइल में डाउनलोड करे।

Click Here To Download




Read

गायत्री माता की आरती | Gayatri Aarti in Hindi With PDF

सरस्वती माता की आरती | Saraswati Aarti in Hindi With PDF

माता अर्गला स्तोत्र | Argala Stotram in Hindi With PDF 

पार्वती जी की आरती | Parvati Aarti in Hindi Lyrics With PDF

संतोषी माता की आरती | Santoshi Mata Aarti in Hindi With PDF

Post a Comment

Previous Post Next Post