माँ दुर्गा जी की आरती | Durga Aarti Lyrics in Hindi With PDF

आप सभी पाठको के लिए पेश है माँ दुर्गा जी की आरती हिंदी में (Durga Aarti in Hindi)

Durga Aarti Lyrics in Hindi With PDF

आप माँ दुर्गा आरती (ambe ji ki aarti in hindi) को ऑनलाइन पढ़ भी सकते है और साथ ही दुर्गा आरती pdf (Durga Aarti PDF) को अपने फ़ोन में डाउनलोड भी कर सकते है बिना इंटरनेट के पढ़ने के लिए।



Durga Aarti in Hindi 

जय अम्बे गौरी मैया जय मंगल मूर्ति ।
तुमको निशिदिन ध्यावत हरि ब्रह्मा शिव री ॥टेक॥
मांग सिंदूर बिराजत टीको मृगमद को ।
उज्ज्वल से दोउ नैना चंद्रबदन नीको ॥जय॥

कनक समान कलेवर रक्ताम्बर राजै।
रक्तपुष्प गल माला कंठन पर साजै ॥जय॥
केहरि वाहन राजत खड्ग खप्परधारी ।
सुर-नर मुनिजन सेवत तिनके दुःखहारी ॥जय॥

कानन कुण्डल शोभित नासाग्रे मोती ।
कोटिक चंद्र दिवाकर राजत समज्योति ॥जय॥
शुम्भ निशुम्भ बिडारे महिषासुर घाती ।
धूम्र विलोचन नैना निशिदिन मदमाती ॥जय॥

चौंसठ योगिनि मंगल गावैं नृत्य करत भैरू।
बाजत ताल मृदंगा अरू बाजत डमरू ॥जय॥
भुजा चार अति शोभित खड्ग खप्परधारी।
मनवांछित फल पावत सेवत नर नारी ॥जय॥

कंचन थाल विराजत अगर कपूर बाती ।
श्री मालकेतु में राजत कोटि रतन ज्योति ॥जय॥
श्री अम्बेजी की आरती जो कोई नर गावै ।
कहत शिवानंद स्वामी सुख-सम्पत्ति पावै ॥जय॥

Durga Aarti PDF

माँ दुर्गा जी की आरती को बिना इंटरनेट के पढ़ने के लिए निचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करे और माँ दुर्गा आरती pdf (Durga aarti in hindi pdf) को अपने मोबाइल में डाउनलोड करे।

Click Here To Download


तो ये थी अंबे माता जी की आरती हिंदी में (Ambe ji ki aarti in hindi) अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आयी होंगी तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ ज़रूर शेयर करे।

Read

खटु श्याम जी की आरती | Khatu Shyam Aarti in Hindi With PDF

अहोई माता की आरती | Ahoi Mata Aarti in Hindi With PDF

आदिनाथ भगवान की आरती | Adinath Aarti In Hindi With PDF

विश्ववकर्मा भगवान की आरती | Vishwakarma Aarti in Hindi With PDF

Post a Comment

Previous Post Next Post