Bajrang Baan Lyrics in Hindi With PDF | श्री हरिहरन बजरंग बाण | Bajrang Baan PDF

आप सभी हनुमान जी के भक्तो के लिए पेश है श्री हरिहरन बजरंग बाण के बोल हिंदी में (Bajrang baan in hindi)। यह रामपूर्ण बजरंग बाण पाठ आप ऑनलाइन पढ़ सकते है और साथ ही बजरंग बाण pdf (Bajrang baan pdf in hindi) भी डाउनलोड कर सकते है कभी भी बिना इंटरनेट के पढ़ने के लिए।

Bajrang Baan in Hindi With PDF

ये रहा सम्पूर्ण हनुमान बाण पाठ हिंदी में पीडीऍफ़ के साथ। 



Bajrang Baan Lyrics in Hindi

निश्चय प्रेम प्रतीति ते, बिनय करैं सनमान

तेहि के कारज सकल शुभ, सिद्ध करैं हनुमान
जय हनुमंत संत हितकार, सुन लीजै प्रभु अरज हमारी
जन के काज बिलंब न कीजै, आतुर दौरि महा सुख दीजै
जैसे कूदि सिंधु महिपारा, सुरसा बदन पैठि बिस्तारा

आगे जाय लंकिनी रोका, मारेहु लात गई सुरलोका
जाय बिभीषन को सुख दीन्हा, सीता निरखि परमपद लीन्हा
बाग उजारि सिंधु महँ बोरा, अति आतुर जमकातर तोरा
अक्षय कुमार मारि संहारा, लूम लपेटि लंक को जारा

लाह समान लंक जरि गई, जय-जय धुनि सुरपुर नभ भई
अब बिलंब केहि कारन स्वामी, कृपा करहु उर अंतरयामी
जय-जय लखन प्रान के दाता, आतुर ह्वै दुख करहु निपाता
जय हनुमान जयति बल-सागर, सुर-समूह-समरथ भट-नागर

ॐ हनु-हनु-हनु हनुमंत हठीले, बैरिहि मारु बज्र की कीले
ॐ ह्नीं ह्नीं ह्नीं हनुमंत कपीसा, ॐ हुं हुं हुं हनु अरि उर सीसा
जय अंजनि कुमार बलवंता, शंकरसुवन बीर हनुमंता
बदन कराल काल-कुल-घालक, राम सहाय सदा प्रतिपालक

भूत, प्रेत, पिसाच निसाच, र अगिन बेताल काल मारी मर
इन्हें मारु, तोहि सपथ राम की, राखु नाथ मरजाद नाम की
सत्य होहु हरि सपथ पाइ कै, राम दूत धरु मारु धाइ कै
जय-जय-जय हनुमंत अगाधा, दुख पावत जन केहि अपराधा

पूजा जप तप नेम अचारा, नहिं जानत कछु दास तुम्हारा
बन उपबन मग गिरि गृह माहीं, तुम्हरे बल हौं डरपत नाहीं
जनकसुता हरि दास कहावौ, ताकी सपथ बिलंब न लावौ
जै जै जै धुनि होत अकासा, सुमिरत होय दुसह दुख नासा

चरन पकरि, कर जोरि मनावौं, यहि औसर अब केहि गोहरावौं
उठु, उठु, चलु, तोहि राम दुहाई, पायँ परौं, कर जोरि मनाई
ॐ चं चं चं चं चपल चलंता, ॐ हनु हनु हनु हनु हनुमंता

ॐ हं हं हाँक देत कपि चंचल, ॐ सं सं सहमि पराने खल-दल
अपने जन को तुरत उबारौ, सुमिरत होय आनंद हमारौ
यह बजरंग-बाण जेहि मारै, ताहि कहौ फिरि कवन उबारै
पाठ करै बजरंग-बाण की, हनुमत रक्षा करै प्रान की

यह बजरंग बाण जो जापैं, तासों भूत-प्रेत सब कापैं
धूप देय जो जपै हमेसा, ताके तन नहिं रहै कलेसा
ताके तन नहिं रहै कलेसा

उर प्रतीति दृढ़, सरन ह्वै, पाठ करै धरि ध्यान
बाधा सब हर, करैं सब काम सफल हनुमान

Bajrang Baan In Hindi Image Lyrics

Bajrang Baan In Hindi Image Lyrics

Download in HD


Bajrang Baan PDF

अपने फ़ोन में बजरंग बाण पीडीऍफ़ (Bajrang baan in hindi pdf) को डाउनलोड करने के लिए निचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करे और बजरंग बाण बिना इंटरनेट से पढ़ने का आनद ले

Click Here to Download

आप सबको यह आर्टिकल कैसा लगा हमे कमेंट कर के ज़रूर बताएं और बजरंगबाण को अपने दोस्तों के साथ शेयर ज़रूर करे ताकि वह भी आनंद ले सके और हरिहरन बजरंगबाण पीडीऍफ़ को डाउनलोड करना न भूले। 

Post a Comment

Previous Post Next Post